OthersRamayan : A scene between Lakshman and Parshuram

20th July 2020by Shubham Agarwal0

नाथ संभुधनु भंजनिहारा।
होईही केउ एक दास तुम्हारा।।

राजा जनक का सभागार समूचा अचंभित था,आश्चर्य सबके आंखों के सामने झलक रही थी कि इतना कोमल बालक इतने विशाल शिव धनुष को जिसे इतने महान और बलशाली राजा उठा तक नहीं पाए, इतनी आसानी से कैसे तोड़ सकता है,हालांकि माता सीता के आंखों की चमक अपने स्मरणीय पति को उनमें ही खोज चुकी थीं और मन ही मन मुस्कुरा रही थीं।

इतने में घनघोर गर्जना के साथ,शिव के अनन्य भक्त परशुराम सभा में आते हैं और गुस्से के गुब्बारे को फेंकते हुए ,पूछते हैं कि किसने शिव धनुष तोड़ा,इसपर लक्ष्मण की तीखी टिप्पणी का प्रभाव युद्ध की ओर लेे जाने लगा, और परशुराम के क्रोध की सीमा इतनी बढ़ गई कि युद्ध के लिए दोनों पक्ष तैयार हो गए,इस बीच राम अपनी संयम ,धैर्य और विनम्रता का परिचय देते हुए परशुराम को अपने विषय में अवगत करा ही देते हैं तो इस तरह क्रोध पर पुनः विनम्रता धैर्य की जीत हो जाती है।

इसलिए आप भी अपने जीवन में विनम्रता का समावेश करें,इससे आप जीवन की कई कठिनाइयों से बच सकते हैं और किसी की तीखी वाणी को भी मीठी वाणी में तब्दील कर सकते हैं।

किसी भी प्रकार की वास्तु,ज्योतिष संबंधी जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें।
Predictionsforsuccess.com

हमारे वास्तु एक्सपर्ट Vishal Bhardwaj  से प्रश्न करें और अपनी बात साझा करें।

विशाल भारद्वाज भारत के एक जाने माने वास्तु एक्सपर्ट होने के साथ साथ एक सफ़ल career counselor, Relationship adviser और Matchmaking expert भी हैं ।

जो अपनी विद्या से दुनिया भर में 89  देशों से 25000 से ऊपर लोगों की मदद कर  चुके हैं ।

आपके तरीक़े और उपचार इतने सटीक और कामगर हैं के आपको बहोत सारी पत्रिकाओं में स्थान दिया गया है, जिनमें से “The Economics Times” , “The Digest” , “Catch News”, “The Quint”  कुछ प्रमुख नाम हैं ।

धन्यवाद्

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://predictionsforsuccess.com/wp-content/uploads/2018/07/planets_footer.png

Follow Us

Developed By PhotoholicsMedia

Open chat
Chat with us!