OthersHartaalika teej(predictions for success)

21st August 2020by Shubham Agarwal0

भाद्रपद शुक्ल पक्ष की तृतीय तिथि को मनाया जाने वाला तीज का त्योहार अपने कठिन व्रत के लिए जाना जाता है जो महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र की कामना के लिए रखती हैं,इस व्रत में महिलाओं को निर्जला व्रत रहना पड़ता है,फिर अगली सुबह स्नानादि के उपरांत व्रत का पारण किया जाता है,ये त्योहार करवा चौथ की ही तरह होता है।

सभी महिलाएं इस त्योहार की तैयारी काफ़ी पहले से ही शुरू कर देती हैं,जैसे नई साड़ी खरीदना , मिष्ठान बनाना,मेहंदी लगाना इत्यादि और फिर त्योहार के दिन शिव पार्वती की पूजा करती हैं अपनी पति की लंबी आयु के लिए,इस व्रत को अविवाहित लड़कियां भी मनवांछित पति पाने की चाह में करती हैं ।

एक कथा के अनुसार ,माता पार्वती ने भगवान शिव जी को पति के रूप में पाने के लिए कठिन तपस्या की थी, माता पार्वती की सहेलियों ने उन्हें अगवा कर लिया था,ऐसे में इस व्रत को हरतालिका नाम से जाना जाने लगा,इस दिन गौरी शंकर की मिट्टी की प्रतिमा बनाई जाती है और इसी का पूजन किया जाता है,इस दिन माता पार्वती को सुहाग का सामान अर्पित किया जाता है,इसके अलावा रात्रि में भजन कीर्तन भी किया जाता है,माना जाता है कि ऐसा करने से शिवशंकर प्रसन्न हो जाते हैं,तीज के दिन हरे रंग का विशेष महत्व होता है ,आमतौर पर महिलाएं हरी चूड़ियां और साड़ी पहनती हैं।

किसी भी वास्तु,ज्योतिष की जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें।
Predictionsforsuccess.com

या हमारे वास्तु एक्सपर्ट Shweta Bhardwaj से बात करें।
Shweta Bhardwaj भारत की जानी मानी ज्योतिष एक्सपर्ट हैं, जो अपनी ज्योतिष विद्या से दुनिया भर में 89 देशों से 25000 से ऊपर लोगों की मदद कर चुकी हैं
आपके ज्योतिष विद्या के तरीक़े और उपचार इतने सटीक और कामगर हैं के आपको बहोत सारी पत्रिकाओं में स्थान दिया गया है, जिनमें से  “The Economics Times” , “The Digest” , “Catch News”, “The Quintकुछ प्रमुख नाम हैं

धन्यवाद्

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://predictionsforsuccess.com/wp-content/uploads/2018/07/planets_footer.png

Follow Us

Developed By PhotoholicsMedia

Open chat
Chat with us!