OthersTungnath

18th June 2020by Shubham Agarwal0

प्रकृति का आलिंगन करता हुआ विश्व भर में सबसे ऊंचाई पर स्थित भगवान शिव के मंदिर का नाम है तुंगनाथ,प्रकृति को नज़दीक से स्पर्श करने का नाम है उत्तराखंड,जिसकी छवि मात्र से ही कल्पना हिलोरे लेने लगती है,जहां सूर्य का हर रोज़ उदय होना और अस्त होना बड़ा ही आलौकिक और बेहद भिन्न जान पड़ता है,इसी सुंदरता में चार चांद लगाता तुंगनाथ के पर्वत पर 3460 मीटर की ऊंचाई पर स्थित महादेव का मंदिर जिसे हम तुंगनाथ मंदिर के नाम से जानते हैं,यह मंदिर 1000 वर्ष पुराना माना जाता है,यहां भगवान शिव की पंच केदारों में से एक के रूप में पूजा होती है।

इस मंदिर के निर्माण की बात करें तो ऐसी मान्यता है कि द्वापर युग में कुरुक्षेत्र में हुए भीषण नरसंहार से भगवान शिव बहुत क्रोधित हो उठे थे इसलिए उनके क्रोध को शांत करने हेतु और उन्हें प्रसन्न करने के लिए पांडवों ने तुंगनाथ के पर्वत पर इस मंदिर का निर्माण करवाया था,एक और मान्यता है यहां के बारे में ,ऐसा कहा जाता है कि माता पार्वती ने भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए ब्याह से पहले यहीं तपस्या की थी,तुंगनाथ का पर्वत तीन धाराओं का उद्गम स्थल है, यहीं से अक्षकामिनी नदी बनती है।

इस दिव्य स्थल पर  मई से लेकर नवंबर तक यात्रा करना थोड़ा सरल होता है,हालांकि ये मंदिर बारहों मास खुला रहता है लेकिन बाकी के महीनों में बर्फ की चादर के कारण पैदल यात्रा ज्यादा करनी पड़ती है।

तो भगवान शिव के इस दिव्य मंदिर का आप दर्शन ज़रूर करें,क्योंकि इस से आप स्वयं को प्रकृति के बेहद करीब भी  महसूस करेंगे।

किसी भी वास्तु,ज्योतिष संबंधी जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें।
Predictionsforsuccess.com
धन्यवाद्

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://predictionsforsuccess.com/wp-content/uploads/2018/07/planets_footer.png

Follow Us

Developed By PhotoholicsMedia

Open chat
Chat with us!