OthersShamshan ghat

18th July 2020by Shubham Agarwal0

श्मशान घाट,जीवन के सच को नज़दीक से देखने का नाम है,किस तरह इंसान अपना कर्म करके वहीं पर जाकर पंचतत्व में विलीन होता है ये भी एक दार्शनिक पहलू है,जीवन का सार है श्मशान घाट,यही नहीं भगवान शिव की कर्मभूमि भी श्मशान घाट ही है,और प्रत्यक्ष रूप से देखा जाए तो भगवान के शिष्य ही अब घाटों को अपना कर्मभूमि मान कर चलते हैं और वहां स्वयं को साधना में लीन रखते हैं।

आमतौर पर लोग श्मशान घाट पर जाने से हिचकते हैं , उनका वहां जाना केवल उनके अपनों के दाह संस्कार में शामिल होने के उद्देश्य से ही होता है ,ऐसे में हमारा ये मानना है कि एक बार श्मशान घाट पर बिना किसी वजह भी जा कर उस जगह की शाश्वत धारा को महसूस करना चाहिए,शायद जीवन के कई विकार उस जगह की परिस्थितियों को देखकर मिट जाए और जीवन के कई सारे भय से हम मुक्त हो जाएं और बाह्य आडंबरों से मुक्त होकर जीवन को किसी प्रेरणार्थक काम में लगा दें।

यही नहीं श्मशान घाट से आग के रूप में निकली हुई ऊर्जा ,एक जीवित इंसान के लिए जीवन के सार का प्रतिबिंब अवश्य हो सकती है ,ऐसा कई दफा देखने को मिलता है कि एक रोता हुए चेहरा वहां पहुंच कर शांत हो जाता है ऐसा लगता है कि उसे ऐसी शांति मिली है जैसे वो किसी साधना में स्वयं को कई दिनों से संलिप्त कर चुका हो,इसी नवचेतना का नाम है श्मशान घाटी।

इसलिए हे ईश्वर के बच्चों ,आप जीवन के सार को देखने ज़रूर जाइए ,ईश्वर प्रदत्त इस स्थान को तीर्थ से कम ना आंकिए।

किसी भी प्रकार की वास्तु,ज्योतिष संबंधी जानकारी हेतु हमसे संपर्क करें।
Predictionsforsuccess.com
धन्यवाद्

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://predictionsforsuccess.com/wp-content/uploads/2018/07/planets_footer.png

Follow Us

Developed By PhotoholicsMedia

Open chat
Chat with us!