OthersRam bhakt la raha hai Ram ki nishani

5th August 2020by Shubham Agarwal0

कोई दीप तो जलाओ,कोई जश्न तो मनाओ,
चलो आरती की थाल लिए स्वागत गीत गाओ।
भगवान राम की जन्मस्थली पर मंदिर पुनर्निर्माण का कार्य ना केवल पूजास्थल का निर्माण है  बल्कि सनातन संस्कृति और सभ्यता का भी पुनर्निर्माण है,जिसकी नींव आज 5 अगस्त को रखी जा रही है,एक ओर जहां भारत इस महामारी से जूझ रहा है वहीं दूसरी ओर राम मंदिर के निर्माण ने मौजूदा दुख को कहीं ना कहीं थोड़ा हल्का ज़रूर किया है, और वजह है लोगों की श्री राम के प्रति आस्था,समर्पण ,दूसरे शब्दों में हम ये भी कह सकते हैं कि राम मंदिर निर्माण कार्य के शुभारंभ ने भारतीयता की पुनर्स्थापना का शुभारंभ किया है।

हर धर्म को अपनी संस्कृति का ख़्याल रखना बेहद आवश्यक है क्योंकि ये संस्कृति उनके पूर्वजों द्वारा बनाई गई धरोहर है,जो हमें जीवन जीना सीखाती है,मर्म,करुणा ,दया भाव ये सब सिखाती है,हालांकि चोट तब पहुंचती है जब ढोंगी और दिखावा करने वाले लोग इस संस्कृति की आड़ में तरह तरह के काम करते हैं,सभी को ये समझने की ज़रूरत है कि श्री राम एक आदर्श के प्रतीक हैं और उनके नाम का मंदिर उनके प्रति आस्था को जीवंत रखने का प्रत्यक्ष बिम्ब है।

इसलिए लोगों के मन में तरह तरह की भ्रांति फैलाना एक गुनाह है जो श्री राम के आदर्शवादी विचारधारा को ही खंडित करता है,जिस राम मंदिर के लिए हमने इतनी प्रतीक्षा की,अगर हम उसी के बताए विचारधाराओं को खंडित करें तो शायद,राम का नाम लेना भी उनका अपमान करना होगा।

तो आज और अभी से ये संकल्प लीजिए कि आप श्री राम के चरणों में अपना जीवन अर्पित करते हुए मानवता की रक्षा करेंगे और श्री राम को अपने मन में उतारेंगे।
किसी भी वास्तु,ज्योतिष संबंधी जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें।
Predictionsforsuccess.com
धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://predictionsforsuccess.com/wp-content/uploads/2018/07/planets_footer.png

Follow Us

Developed By PhotoholicsMedia

Open chat
Chat with us!