OthersDepression is Deadlier than Covid 19

14th June 2020by Shubham Agarwal0

आपको क्या लगता है,डिप्रेशन किसे कहते होंगे?
आपको क्या लगता है कितने ऐसे लोग हैं जो वास्तव में सुनना पसंद करते हैं?
आपको क्या लगता है कितने प्रतिशत लोग डिप्रेशन को गंभीर रूप से संज्ञान में लेते हैं।
सच तो ये है फूल का दिल भी छलनी है,
हंसता चेहरा तो एक बहाना लगता है।
कैफ भोपाली साहब का ये शेर इस परिस्थितियों को बड़े ही बेबाक अंदाज़ में बताता हुआ शेर मालूम पड़ता है।
एक इंसान जो हर समय रोता,बाल नोचता होगा या हर वक़्त मायूस होगा उसे ही कहते होंगे शायद,क्योंकि डिप्रेशन नाम भी तो कितना अजीब है ना तो शायद यही अजीब सी चीज़ें डिप्रेशन में दिखती होंगी।
हालांकि आपको बता दूं एक हंसता हुए चेहरा कैसे अपनी अंदरूनी घाव को छुपाता है ये शायद वही जान पाए और वास्तव में यही डिप्रेशन भी है ,डिप्रेशन किस तरह से मस्तिष्क पर विजय प्राप्त कर लेता है ये उस इंसान की क्षमता पर निर्भर करता है।
हालांकि डिप्रेशन के बारे में जितना जानना है आप वो सब जानते होंगे इसलिए मै उतनी गहराई में नहीं जाऊंगा, मै इससे लड़ने के उपाय पर आपका ध्यान लाना चाहूंगा।
सबसे पहली बात ,डिप्रेशन को कभी भी हल्के में लेने की।कोशिश ना करें,आप अपने दोस्तों से इसके बारे में बात करें अगर वो ठीक तरह से आपको समझ नहीं पा रहे तो किसी मनोचिकित्सक से संपर्क करें,इनका काम ही होता है डिप्रेशन में गए व्यक्ति को उस से दूर निकालना,वो ज़रूर आपकी सहायता करेंगे और आपको इस परेशानी से दूर करने में आपकी मदद करेंगे।
एक छोटा सा संदेश समाज के लिए,आप कभी भी किसी को कुछ कड़वा बोलने से पहले १०० बार सोचे कि इसका उसपर क्या प्रभाव पड़ सकता है, और जितने भी माता पिता हैं वो सब अपने बच्चों को मानसिक तौर पर मजबूत रखें और अगर कभी भी वो डिप्रेशन में जाते हैं तो उनकी मदद करें , नज़रंदाज़ कभी ना करें,क्योंकि एक छोटा घाव कब इतना बड़ा हो जाए,आपको भी नहीं पता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://predictionsforsuccess.com/wp-content/uploads/2018/07/planets_footer.png

Follow Us

Developed By PhotoholicsMedia

Open chat
Chat with us!